Wednesday
Jul 24th
Text size
  • Increase font size
  • Default font size
  • Decrease font size
Click here to Enroll Prelims Test Series 2018

फैक्ट्स एंड फिगर

    • वेस्‍टर्न घाट एक पर्वतीय श्रृंखला हैजो भारत के पश्चिमी किनारे पर स्थित है।
    • दक्‍कनी पठार के पश्चिमी किनारे के साथ-साथ यह पर्वतीय श्रृंखला उत्‍तर से दक्षिण की तरफ 1600 किलोमीटर लम्‍बी है।
    • यह विश्‍व में जैविकीय विवधता के लिए बहुत महत्‍वपूर्ण है और इसका विश्‍व में 8वां नंबर है।
    • यह गुजरात और महाराष्‍ट्र की सीमा से शुरू होती है और महाराष्‍ट्रगोवाकर्नाटकतमिलनाडु तथा केरल से होते हुए कन्‍याकुमारी में समाप्‍त हो जाती है।
    • इन पहाडि़यों का कुल क्षेत्र 160,000 वर्ग किलोमीटर है।
    • इसकी औसत उंचाई लगभग 1200 मीटर (3900 फीट) है।
    • इस क्षेत्र में फूलों की पांच हजार से ज्‍यादा प्रजातियां139 स्‍तनपायी प्रजातियां508 चिडि़यों की प्रजातियां और 179 उभयचर प्रजातियां पाई जाती हैं।
    • ऐसी जानकारी प्राप्‍त हुई है कि वेस्‍टर्न घाट में कम से कम 84 उभयचर प्रजातियां और 16 चिडि़यों की प्रजातियां और सात स्‍तनपायी और 1600 फूलों की प्रजातियां पाई जाती हैंजो विश्‍व में और कहीं नहीं हैं।
    • वेस्‍टर्न घाट में सरकार द्वारा घोषित कई संरक्षित क्षेत्र हैं। इनमें दो जैव संरक्षित क्षेत्रऔर 13 राष्‍ट्रीय पार्क हैं।
    • वेस्‍टर्न घाट में स्थित नीलागिरी बायोस्फियर रिजर्व का क्षेत्र 5500 वर्ग किलोमीटर है,    जहां सदा हरे-भरे रहने वाले और मैदानी पेड़ों के वन मौजूद हैं।
    • केरल का साइलेंट वैली राष्‍ट्रीय पार्क वेस्‍टर्न घाट का हिस्‍सा है। यह भारत का ऐसा अंतिम उष्‍णकटिबंधीय हरित वन हैजहां अभी तक किसी ने प्रवेश नहीं किया है।
    • अगस्‍त2011 में वेस्‍टर्न घाट पारिस्थितिकी विशेषज्ञ पैनल ने पूरे वेस्‍टर्न घाट को पारिस्थितिकीय रूप से संवेदनशील क्षेत्र घोषित किया है। पैनल ने इसके विभिन्‍न क्षेत्रों को तीन स्‍तर पर संवेदनशील बताया है।
    • 2012 में यूनेस्‍को ने वेस्‍टर्न घाट क्षेत्र के 39 स्‍थानों को विश्‍व धरोहर स्‍थल घोषित किया है।  

 
ASK Your Query

फैक्ट्स एंड फिगर