Tuesday
Nov 21st
Text size
  • Increase font size
  • Default font size
  • Decrease font size
Click here to Enroll Prelims Test Series 2018

‘‘अर्थ आ ॅवर अभियान’’

बिजली के अपव्यय और जलवायु परिवर्तन के खिलाफ 20 मार्च 2016 एकजूट को लोग हुए है। अर्थ आॅवर के कारण भारत समेत दुनियाभर में आज रात को 8ः30 बजे से 9ः30 बजे के बीच सभी गैर जरूरी लाइटे बंद रखने का संदेश दिया जा रहा है। वल्र्ड वाइड फंड फाॅर नेचर को अभियान अर्थ आॅवर यह है कि लागे रात को एक घंटा अपन े घरो,ं प्रतिष्ठानो ं और आॅफिसां े की सभी गैरजरूरी लाइटं े बंद रख।ें

जलवायु परिवर्तन जैसी गंभीर समस्या से लड़ने के लिए एक घंटे का समय बेहद कम जरूर है, लेकिन यह एक घंटा यह संदेश देने के लिए पर्याप्त है कि बिजली के अपव्यय को रोका जाना अतिआवश्यक है। ताकि हमारा भविष्य रोशन हो सका।

दुनिया के 172 देश हिस्सा लेंगे

वल्र्ड वाइड फंड फाॅर नेचर के अनुसार अर्थ आॅवर अभियान में इस साल 172 देश जुड़ चुके हैं। इस साल भारत में इसके ब्रांड एम्बेसडर क्रिकेटर शिखर धवन है। देशभर मंे इस अभियान को काफी समर्थन मिला हैं। 150 से अधिक शहर आगे आए हैं। अर्थ आॅवर अभियान को अमिताभ बच्चन, हर्ष भोगले, सानिया मिर्जा, जैसी मशहूर हस्तियांे का भी समर्थन मिल चुका है।

इस बार की थीम ‘गो सोलर’

इस बार संदेश दिया जा रहा है कि गैरजरूरी बत्तियां एक घंटे ं के लिए बुझाई जाएं और सौर ऊर्जा को ज्यादा से ज्यादा अपनाया जाए। डब्ल्यूडब्ल्यूएफ के अनुसार भारत जैसे देश में जहा लगभग 300 दिन धूप वाले दिन होते हैं, वहां सौर ऊर्जा का इस्तेमाल काफी प्रभावी हो सकता है।

क्या है अर्थ आॅवर

अर्थ आॅवर अभियान का मकसद लागे ो ं को पर्यावरण सुरक्षा के प्रति जागरूक करना है। इसकी शुरूआत सिडनी मे ं 2007 मे ं हुई थी। इस वर्ष इस अभियान को पहले से ज्यादा समर्थन मिल रहा है।